गोदान के बाद सब स चर्चित हिंदी उपन्यास “मैला आँचल”क लेखक कोशिक क्षेत्रक साहित्य रत्न फणीश्वर नाथ रेणु…!!

फणीश्वर नाथ रेणुक जन्म 4 मार्च 1921 केँ औराडी हिंगन्ना, जिला पूर्णियां, बिहार अररिया जिलाक फॉरबिसगंज के निकट में भेल

Read more

अहि कारण स चौरचन पाबैन मिथिला में मनायल जाइ छइ…

मिथिलाक पावनि चौरचन- मिथिलाक क्षेत्र में बहुत दिन तक अराजकताक स्थिति रहल । जखैन दिल्लीक सलतनत पर बादशाह अकबर अधिकार

Read more

मिथिला – भौगोलिक महत्व

कौशिकीन्तु समारभ्य गण्डकीमधिगम्यवै। योजनानि चतुर्विंश व्यायामः परिकीर्त्तितः॥ गङ्गा प्रवाहमारभ्य यावद्धैमवतम्वनम् । विस्तारः षोडशप्रोक्तो देशस्य कुलनन्दन॥ वृहद्विष्णुपुराण में मिथिलाक सीमा केर

Read more

धर्मदत्त झा(बच्चा झा)- संक्षिप्त जीवनी

धर्मदत्त झा(बच्चा झा) (1860 ई.-1918 ई.) मधुबनी जिलांतर्गत लवाणी (नवानी) गाममे हिनकर जन्म भेलन्हि। पं. रत्नपाणि झाक पुत्र  बच्चा झाकेँ

Read more

कियाक अवहेलित भेल अप्पन मैथिली भाषा ?? मैथिली भाषाक इतिहास..!!

कवि चंदा झा कें ई दुइ शब्द , मिथिलाक यथार्थ चित्रण करैत अछि । भाषा कोनहुं क्षेत्रक भौगोलिक महत्व कें

Read more